साइन-इन करें

For Suspension of fresh subscription in certain schemes of NIMF, kindly refer to एडेंडम

आपको म्यूचुअल फंड के एक्सपेंस रेशियो पर क्यों ध्यान देना चाहिए?

जब कोई चीज बहुत उपयोगी या आवश्यक होती है तो उसकी कीमत के बारे में नहीं सोचते. जब आप एक मजेदार विदेश यात्रा करते हैं तो थोड़ा बहुत अधिक खर्च हो जाने की परवाह नहीं करते. म्यूचुअल फंड निवेश पर भी यही बात लागू होती है. अगर कोई म्यूचुअल फंड आपकी जोखिम लेने की क्षमता के अनुसार सही है और आपको इसमें संभावनाएं दिखाई दे रही हैं, तो थोड़े बहुत अधिक खर्च से कोई फर्क नहीं पड़ता.

लेकिन फिर भी आपको खर्च की सीमा तो निर्धारित करनी ही है और खर्च अनुपात इसमें आपकी मदद करता है. खर्च अनुपात आपके म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो को रोजाना प्रभावित करता है, इसलिए इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए. यह आर्टिकल आपको खर्च अनुपात के बारे में पूरी जानकारी देगा और आपके म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो में इसका महत्व समझाएगा.

म्यूचुअल फंड में कुल खर्च अनुपात क्या है?

म्यूचुअल फंड को म्यूचुअल फंड स्कीम के मैनेजमेंट के लिए कुछ ऑपरेटिंग खर्चों का शुल्क लेने की अनुमति है - जैसे बिक्री और विज्ञापन खर्च, प्रशासनिक खर्च, निवेश मैनेजमेंट फीस आदि. म्यूचुअल फंड स्कीम को चलाने और मैनेज करने के ऐसे सभी खर्चों को सामूहिक रूप से 'कुल खर्च अनुपात' (टीईआर) कहा जाता है. इन खर्चों को हर दिन म्यूचुअल फंड की दैनिक एनएवी में से घटा दिया जाता है.

कुल खर्च अनुपात की गणना कैसे की जाती है?

म्यूचुअल फंड का कुल खर्च अनुपात इस प्रकार व्यक्त किया जाता है:

खर्च अनुपात = कुल खर्च / औसत नेट एसेट वैल्यू (एनएवी)

ऑपरेटिंग खर्च नियमित रूप से लगाए जाते हैं. इसलिए, ऐक्टिव रूप से मैनेज किए गए फंड में पैसिव रूप से मैनेज किए गए फंड की तुलना में अधिक खर्च अनुपात होता है क्योंकि ऐक्टिव फंड्स को नियमित ट्रैकिंग की आवश्यकता होती है. हालांकि, यह सिक्योरिटीज़ एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) द्वारा जारी किए गए मानदंडों के अनुसार एक निश्चित सीमा से अधिक नहीं हो सकता है. कुल खर्च अनुपात, एयूएम और म्यूचुअल फंड के प्रकार का फंक्शन है. यहां इसकी गणना करने का तरीका बताया गया है:

प्रकारअधिकतम कुल खर्च अनुपात (टीईआर)
क्लोज-एंडेड और इंटरवल इक्विटी-ओरिएंटेड फंड1.25%
क्लोज एंडेड और इंटरवल डेट ओरिएंटेड स्कीम1.00%
ईटीएफ, इंडेक्स1.00%
एफओएफ मुख्य रूप से इंडेक्स और ईटीएफ स्कीम्स में निवेश करता है*1.00%
मुख्य रूप से एक्टिव इक्विटी ओरिएन्टेड स्कीम में निवेश करने वाले एफओएफ*2.25%
मुख्य रूप से एक्टिव डेट ओरिएन्टेड स्कीम में निवेश करने वाले एफओएफ*2.00%

* अंतर्निहित स्कीम द्वारा लगाए गए कुल खर्च अनुपात के औसत वेटेज सहित

खर्च अनुपात: आपको इस पर ध्यान क्यों देना चाहिए?

चूंकि खर्च अनुपात को आपके निवेश की वैल्यू से घटाया जाता है, इसलिए अधिक खर्च अनुपात कम रिटर्न का कारण बन सकता है. इसलिए, म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले आपको इसके खर्च अनुपात के साथ-साथ अन्य कारकों को भी चेक करना चाहिए.

हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि कम खर्च अनुपात वाले फंड उच्च खर्च अनुपात वाले फंड से बेहतर होते हैं. आप फंड के खर्च अनुपात का मूल्यांकन और इसमें निवेश तभी करें जब यह आपके लक्ष्यों, निवेश की अवधि और जोखिम लेने की क्षमता से मेल खाता हो.

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए चेकलिस्ट

कुल खर्च अनुपात (टीईआर) के बारे में जानना आवश्यक है, लेकिन म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले आपको दूसरी कुछ बातों को भी ध्यान में रखना चाहिए. ऐसी ही कुछ बातें हमने नीचे बताई हैं:

● उच्च एयूएम का मतलब बेहतर परफॉर्मेंस नहीं है

हालांकि उच्च एयूएम वाला म्यूचुअल फंड अधिक लोकप्रिय हो सकता है और इसमें कुल खर्च अनुपात (टीईआर) कम हो सकता है, लेकिन यह रिटर्न की गारंटी नहीं देता है. म्यूचुअल फंड की परफॉर्मेंस केवल अंतर्निहित सिक्योरिटीज़ की परफॉर्मेंस पर निर्भर करती है.

● फंड मैनेजर के क्रेडेंशियल भी काफी महत्व रखते हैं

म्यूचुअल फंड में कुल खर्च अनुपात (टीईआर) और आपकी जोखिम लेने की क्षमता महत्वपूर्ण होती है, लेकिन कुछ कारक जैसे फंड मैनेजर के क्रेडेंशियल भी महत्व रखते हैं. फंड मैनेजर्स फंड द्वारा धारित एसेट की परफॉर्मेंस को मैनेज और ट्रैक करने के लिए जिम्मेदार होते हैं.

● क्या फंड का पोर्टफोलियो मिक्स आपके लिए उपयुक्त है?

म्यूचुअल फंड इक्विटी और डेट इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं. हर फंड का पोर्टफोलियो मिक्स ऑनलाइन उपलब्ध है, इसलिए आपको फंड के पोर्टफोलियो का सावधानीपूर्वक विश्लेषण करना चाहिए ताकि आप यह पता लगा सकें कि मौजूदा मिक्स आपकी प्रोफाइल और विश्लेषण के अनुसार है या नहीं.

अगर आप अपना होमवर्क करते हैं, सही प्रोसेस का पालन करते हैं और अपने लक्ष्यों के प्रति प्रतिबद्ध रहते हैं, तो म्यूचुअल फंड निवेश कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है. खर्च अनुपात के बारे में जानना आपके अध्ययन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि यह आपको आपके अपेक्षित खर्चों की जानकारी प्रदान करता है. एक बार जब आप फंड के खर्च अनुपात का भुगतान करने के लिए तैयार हो जाते हैं और फंड आपके लक्ष्यों और जोखिम क्षमता से भी मेल खाता है, तो आप इसमें निवेश करना शुरू कर सकते हैं और म्यूचुअल फंड निवेश के माध्यम से अपने लक्ष्यों की ओर एक कदम बढ़ा सकते हैं.

जेनेरिक डिस्क्लेमर
यहां दी गई जानकारी केवल सामान्य पढ़ने के उद्देश्यों के लिए है और व्यक्त किए जा रहे विचार केवल राय बनाते हैं और इसलिए इन्हें पाठकों के लिए दिशानिर्देश, सिफारिशें या पेशेवर मार्गदर्शक के रूप में नहीं माना जा सकता है. ये डॉक्यूमेंट, सार्वजनिक रूप से उपलब्ध जानकारी, आंतरिक रूप से विकसित डेटा और विश्वसनीय माने जाने वाले अन्य स्रोतों के आधार पर तैयार किए गए हैं. प्रायोजक, इन्वेस्टमेंट मैनेजर, ट्रस्टी या उनके निदेशक, कर्मचारी, सहयोगी या प्रतिनिधि ("संस्थाएं और उनके सहयोगी") ऐसी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, पर्याप्तता और विश्वसनीयता की ज़िम्मेदारी या गारंटी नहीं लेते हैं. इस जानकारी के प्राप्तकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे अपने स्वयं के विश्लेषण, व्याख्या और जांच पर भरोसा करें. किसी भी इन्वेस्टमेंट निर्णय पर पहुंचने के लिए पाठकों को स्वतंत्र प्रोफेशनल सलाहकार से परामर्श लेने की भी सलाह दी जाती है. इस सामग्री की तैयारी या जारी करने में शामिल व्यक्तियों सहित संस्थाएं और उनके सहयोगी, इस सामग्री में शामिल जानकारी से उत्पन्न होने वाले हानि के कारण, किसी भी प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष, विशेष, आकस्मिक, परिणामी, दंडात्मक या अनुकरणीय नुकसान के लिए किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं होंगे. इस डॉक्यूमेंट के आधार पर लिए गए किसी भी निर्णय के लिए केवल प्राप्तकर्ता ही पूरी तरह से ज़िम्मेदार होंगे.

म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट मार्केट जोखिमों के अधीन हैं, स्कीम से संबंधित सभी डॉक्यूमेंट को ध्यान से पढ़ें.

ऐप डाउनलोड करें