साइन-इन करें

For Suspension of fresh subscription in certain schemes of NIMF, kindly refer to एडेंडम

 कंटेंट एडिटर

डेट म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं?

बहुत से लोगों को लगता है कि म्यूचुअल फंड निवेश का मतलब केवल स्टॉक/इक्विटी में निवेश है! यह एक आम धारणा हो सकती है, लेकिन म्यूचुअल फंड इक्विटी से कहीं अधिक हैं. इन फंड्स में हर प्रकार के निवेशक के लिए कुछ न कुछ होता है और डेट म्यूचुअल फंड इसी प्रकार की एक ऑफरिंग है.



डेट म्यूचुअल फंड, बॉन्ड, सरकारी सिक्योरिटीज़ और ट्रेजरी बिल जैसे फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट में आपके पैसे निवेश करते हैं, जिसका उद्देश्य रिटर्न जनरेट करना होता है. यहां पर कॉर्पोरेट या सरकार आपसे पैसे उधार लेना चाह रहे हैं और आप उन्हें पैसे उधार दे रहे हैं. उधार देने की इस प्रक्रिया में, उधार लेने वाला उधार देने वाले को एक बॉन्ड जारी करता है. आइए समझते हैं कि डेट म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं और इनसे रिटर्न कैसे जनरेट होते हैं.

डेट फंड क्या हैं?

अगर कोई कंपनी पैसे जुटाना चाहती है, तो उसके पास तीन विकल्प होते हैं-

1. स्टॉक मार्केट में कंपनी के शेयर बेचे
2. किसी फाइनेंशियल संस्थान से पैसे उधार ले, जैसे कि लोन
3. बॉन्ड जारी करके पैसे उधार ले

इन बॉन्ड में आमतौर पर एक निश्चित मेच्योरिटी अवधि होती है और एक पूर्व-घोषित ब्याज राशि होती है जो लेंडर को वर्ष के दौरान मिलेगी. उदाहरण के लिए, अगर आपने 5 वर्ष के बॉन्ड में प्रति वर्ष 5% ब्याज दर से ₹1000 का निवेश किया है, तो आपको 5 वर्ष के लिए ब्याज के रूप में ₹50 की राशि हर वर्ष मिलेगी. 5 वर्षों के अंत में, आपको अपनी मूलधन राशि ₹1000 वापस मिल जाएगी.

डेट फंड कैसे काम करते हैं? वे आपके जैसे निवेशकों से पैसे को एकत्र करते हैं और फिर फंड मैनेजर फंड के उद्देश्य के आधार पर विभिन्न कंपनियों के बॉन्ड खरीदता है.

जिस तरह से स्टॉक मार्केट में स्टॉक ट्रेड होते हैं, उसी तरह से बॉन्ड मार्केट में बॉन्ड ट्रेड किए जाते हैं.

डेट फंड और उनके रिटर्न के बारे में अधिक जानकारी

We have answered the popular question- how do debt funds work? Let us understand how they gather returns. There are two ways in which debt funds gather returns.

Firstly, the issuers of the bonds pay interest, as mentioned above. This interest is passed on to the investors in the form of an increase in the Net Asset Value (NAV), i.e. the unit price at which you purchase the units of a mutual fund.

Secondly, the bond price fluctuates as interest rates fluctuate in the market. Suppose the interest rate in the economy falls - that would typically imply that any new bond being issued will be at a lower per annum interest rate. Taking the above example forward, this means that the bonds being issued at 5% per annum will now be issued at 4% per annum. This will result in an increase in price for the 5% bonds. Thus, if bond price increases, these gains are passed on to the investors via an increase in the NAV.

The type of debt fund and its investment objective determine how these returns are generated and how much risk does a debt fund holds.

Have we made you curious to know more about debt mutual funds? Click here to read about the types of debt funds and choose the one that suits your requirements.

ये उदाहरण केवल समझने के लिए हैं, यह किसी भी स्कीम के प्रदर्शन से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से संबंधित नहीं है. यहां दी गई जानकारी सामान्य तौर पर केवल पढ़ने के लिए है. यहां व्यक्त किए गए विचार केवल राय हैं. इसलिए, इसे पाठकों के लिए दिशानिर्देश, सुझाव या प्रोफ़ेशनल मार्गदर्शक के रूप में नहीं माना जा सकता. यह डॉक्यूमेंट सार्वजनिक रूप से उपलब्ध जानकारी, आंतरिक रूप से तैयार किए गए डेटा और अन्य विश्वसनीय स्रोतों के आधार पर तैयार किया गया है. स्पॉन्सर, निवेश मैनेजर, ट्रस्टी या उनका कोई भी डायरेक्टर, कर्मचारी, सहयोगी या प्रतिनिधि ("संस्थाएं और उनके सहयोगी") ऐसी किसी जानकारी के सटीक होने, पूरी होने, पर्याप्त होने और भरोसेमंद होने की कोई ज़िम्मेदारी या वारंटी नहीं नहीं लेते हैं. यह जानकारी पाने वालों को सलाह दी जाती है कि वे अपने विश्लेषण, व्याख्या और जांच पर ही भरोसा करें. पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे निवेश से जुड़ा निर्णय सोच-समझकर लेने के लिए, किसी स्वतंत्र प्रोफेशनल की सलाह लें. इस सामग्री की तैयारी या जारी करने में शामिल व्यक्तियों सहित उनके सहयोगी किसी भी प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष, विशेष, आकस्मिक, परिणामी, दंडात्मक या अनुकरणीय नुकसान के लिए किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं होंगे, जिसमें इस सामग्री में शामिल जानकारी से के कारण होने वाली लाभ की हानि शामिल है. केवल प्राप्तकर्ता, इस डॉक्यूमेंट के आधार पर लिए गए किसी भी निर्णय के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार होगा.

म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट मार्केट जोखिमों के अधीन हैं, स्कीम से संबंधित सभी डॉक्यूमेंट को ध्यान से पढ़ें

ऐप डाउनलोड करें