साइन-इन करें

For Suspension of fresh subscription in certain schemes of NIMF, kindly refer to एडेंडम

 कंटेंट एडिटर

डेट म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें?

अगर आपने डेट फंड में निवेश करने का निर्णय लिया है, तो अगला चरण यह समझना है कि डेट फंड में निवेश कैसे करें. प्रोसेस के बारे में जानकारी प्राप्त करने के अलावा, आपको निवेश शुरू करने से पहले कुछ अन्य बातें भी जान लेनी चाहिए.

डेट म्यूचुअल फंड क्या हैं?

डेट म्यूचुअल फंड के साथ, आप मूल रूप से लोन में निवेश कर रहे हैं. आसान शब्दों में, जब आप डेट म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो फंड मैनेजर कॉर्पस एकत्र करता है और इसे सरकार और कॉर्पोरेट को उन बॉन्ड के बदले में उधार देता है जिनकी मेच्योरिटी और ब्याज निर्धारित होता है. ये बॉन्ड, बॉन्ड मार्केट में ट्रेड किए जाते हैं. डेट फंड से मिलने वाले रिटर्न दो तरीकों से प्राप्त किए जाते हैं- बॉन्ड की ब्याज आय से और ब्याज दर में उतार-चढ़ाव के कारण डेट मार्केट में बॉन्ड की कीमतों में बदलाव से. इसके बारे में अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें डेट फंड कार्य, Here

ये अपेक्षाकृत कम जोखिम लेने वाले निवेशक के लिए उपयुक्त होते हैं क्योंकि ये फंड डेट सिक्योरिटीज़ में निवेश करते हैं जो इक्विटी स्टॉक की तुलना में कम अस्थिर होती हैं. आप अपने शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म दोनों प्रकार के लक्ष्यों के लिए डेट फंड में निवेश कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी जोखिम लेने की क्षमता और निवेश की अवधि का आकलन करना होगा ताकि आप अपने लिए सबसे उपयुक्त डेट फंड चुन सकें. डेट फंड आपको मार्केट जोखिम के मामले में अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने में मदद कर सकते हैं क्योंकि ये फंड टैक्स-कुशल तो होते ही हैं, साथ ही इक्विटी फंड की तुलना में इनमें निहित जोखिम भी कम होता है. डेट फंड में निवेश करने से आपको लिक्विडिटी मिल सकती है जो पारंपरिक निवेश साधनों में अक्सर उपलब्ध नहीं होती है. मार्केट में कई प्रकार के डेट फंड उपलब्ध हैं जिनके निवेश उद्देश्य अलग-अलग होते हैं और जो विभिन्न प्रकार के लक्ष्यों के लिए आदर्श होते हैं

अपने लक्ष्यों के अनुसार डेट फंड चुनें

डेट फंड कैसे काम करते हैं, यह जान जाने के बाद अगला कदम आपके लक्ष्यों को निर्धारित करना है. आपको कौन सा डेट फंड चुनना चाहिए, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका लक्ष्य कितना दूर है. उदाहरण के लिए, अगर आपका लक्ष्य अगले वर्ष नई कार खरीदना है, तो आपके निवेश की अवधि आपके बच्चे के स्कूल की सालाना फीस के भुगतान के लिए आवश्यक निवेश की अवधि से अधिक होगी. इसी प्रकार कार खरीदने के लक्ष्य में बदलाव किया जाना अपेक्षाकृत आसान होगा. अर्थात आप कार खरीदने के लक्ष्य को कुछ महीनों या कुछ वर्षों के लिए टाल भी देते हैं तो कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा, वहीं स्कूल की फीस भरना एक ऐसा लक्ष्य है जो आपको निर्धारित समय पर पूरा करना ही पड़ेगा.

आपके लक्ष्यों के आधार पर विभिन्न प्रकार की जोखिम क्षमताओं और निवेश की अवधियों के लिए डेट फंड उपलब्ध हैं. जब आप किसी शॉर्ट टर्म लक्ष्य के लिए डेट फंड में निवेश करते हैं तो आप कम से कम जोखिम लेना चाहेंगे. दूसरी ओर, जब आप लॉन्ग टर्म के लिए डेट फंड में निवेश करते हैं तो आप कुछ हद तक जोखिम उठा सकेंगे. अगर आप डेट फंड में ऑनलाइन निवेश करना चाहते हैं तो इसके कुछ तेज़ और आसान चरण यहां दिए गए हैं. अगर आप लॉन्ग टर्म के लिए डेट फंड में निवेश करना चाहते हैं, तो क्लिक करें Here और जानें कि कौन से प्रकार का डेट फंड आपकी आवश्यकताओं के लिए उपयुक्त है.

डेट फंड में निवेश कैसे करें?

एक बार जब आप अपने निवेश का रूट तय कर लेते हैं, तो डेट फंड में निवेश करना आसान हो जाता है. आप फंड हाउस में डायरेक्ट निवेश कर सकते हैं या फिर म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर के माध्यम से निवेश कर सकते हैं. म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर के पास अपना निवेश पोर्टल हो सकता है. हालांकि, नीचे दिए गए चरण दोनों तरीकों के लिए कॉमन हैं

Here

निवेश करने के बाद, एक नया फोलियो नंबर बनाया जाएगा और आपको अपने निवेश के विवरण के साथ फंड हाउस से एक ईमेल मिलेगा. इसके बाद, फंड हाउस आपको फंड के बारे में नियमित अपडेट या इसके निवेश उद्देश्य में किसी भी बदलाव की जानकारी भेजता रहेगा, व्यय अनुपात, आदि.

सिक्योरिटीज़ एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) के निर्देश के अनुसार किसी भी फाइनेंशियल इंस्ट्रूमेंट में निवेश करने से पहले केवाईसी करवाना आवश्यक है. केवाईसी के बारे में अधिक जानकारी के लिए, Here

यहां दी गई जानकारी सामान्य तौर पर केवल पढ़ने के लिए है. यहां व्यक्त किए गए विचार केवल राय हैं. इसलिए, इन्हें पाठकों के लिए दिशानिर्देश, सुझाव या प्रोफेशनल मार्गदर्शक के रूप में नहीं माना जा सकता है. ये डॉक्यूमेंट सार्वजनिक रूप से उपलब्ध जानकारी, आंतरिक रूप से तैयार किए गए डेटा और अन्य विश्वसनीय स्रोतों के आधार पर तैयार किए गए हैं. स्पॉन्सर, इन्वेस्टमेंट मैनेजर, ट्रस्टी या उनका कोई भी डायरेक्टर, कर्मचारी, सहयोगी या प्रतिनिधि ("संस्थाएं और उनके सहयोगी") ऐसी किसी जानकारी के सटीक होने, पूरी होने, पर्याप्त होने और भरोसेमंद होने की कोई ज़िम्मेदारी या वारंटी नहीं नहीं लेते हैं. यह जानकारी पाने वालों को सलाह दी जाती है कि वे अपने विश्लेषण, व्याख्या और जांच पर ही भरोसा करें. पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे इन्वेस्टमेंट से जुड़ा निर्णय सोच-समझकर लेने के लिए, किसी स्वतंत्र प्रोफेशनल की सलाह लें. इस कॉन्टेंट को तैयार करने या जारी करने में शामिल व्यक्तियों के साथ-साथ संस्थाएं और उनके सहयोगी किसी भी ऐसे प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष, विशेष, आकस्मिक, परिणामी, दंडात्मक या किसी अन्य नुकसान के लिए ज़िम्मेदार नहीं होंगे. इस कॉन्टेंट में निहित जानकारी से होने वाले लाभ के नुकसान के, कारण भी शामिल हैं. केवल प्राप्तकर्ता, इस डॉक्यूमेंट के आधार पर लिए गए किसी भी निर्णय के लिए पूरी तरह से ज़िम्मेदार होंगे.

म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट मार्केट जोखिमों के अधीन हैं, स्कीम से संबंधित सभी डॉक्यूमेंट को ध्यान से पढ़ें

ऐप डाउनलोड करें